Non Fungible Tokens: क्या हैं नॉन फंजिबल टोकन, कैसे काम करते हैं NFT? यहां जानिए सबकुछ

4.2/5 - (4 votes)

NFT अभी के टाइम मे सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बना है. और हो भी क्यूँ ना? जहाँ 10 second के वीडियो के आर्टवर्क को लोग अरबो रूपये में खरीद रहे है, कोई लोग अपने सेल्फि को Nft पर बेच कर घर बैठे करोडो रुपए बना रहे है.

Google Trends के रिपोर्ट के अनुसार Cryptocurrency के बाद जो सबसे ज्यादा सर्च मे रहा वो है NFT और यह डाटा पूरे वर्ल्ड वाइड का है.

आजकल के डिजिटलाइज़ेशन जमाने मे अब कुछ भी असंभव नही रहा. आपमे से कई Nft के बारे में जानते होगे अगर नही जानते की Nft क्या होता है? ये कैसे कैसे काम करता है? आप nft से पैसे कैसे कमा सकते हो?

चलिए जानते nft के बारे सबकुछ और बहुत कुछ इस Blog मे तो पोस्ट को अंत तक पुरा पढे.

एनएफटी NFT full form, झलक (Glance)

NFT full form : Non-fungible Token
कब हुआ शुरू : पहले एनएफटी की शुरुआत साल 2014 से हुई है
पहली एनएफटी किसने बनाई: केविन मैककॉय और अनिल दास द्वारा ‘Quantum’ nft
Charecteristics: nft डिजिटली डाटा स्टोर करने का यूनिट है जिसे blockchain कहा जाता है
उद्देश्य: एनएफटी डिजिटल एसेट्स जिससे वैल्यू किया जाता है.
खास बात: Nft हमेशा ही यूनीक होते हैं

Nft क्या है?

NFT का फुल फॉर्म है Non-fungible Token है. NFT एक Non-replaceble, युनीक, डिजिटल असेट होती है, इसे दो लोग आपस मे एक्सचेंज नही कर सकते.

Nft क्रिप्टोग्राफिक टोकन की तरह काम करते है. एनएफटी बिटकॉइन ईथेरियम जैसे ही डिजिटल टोकन है पर उनसे अलग-भिन्न होते है. इनमे फर्क इतना है की Nft युनीक होते है, जो खुद मे अपनी Value Create करते है.

Fungible मतलब क्या है?
मानलो आपके पास 10rs के दो नोट है [10 +10] और आपके दोस्त के पास 20rs की एक नोट है [20] और आप दोनों इसे आपस मे Exchage करते हो तो फिर भी इनके Value मे कुछ फर्क नही पडेगा। ऐसे Transaction को कहते है Fungible Transaction.

Non-fungible का मतलब कोई Unique चीज, जिसे हम Replace नही कर सकते.

समझो की आपके Birthday के दिन आपके पापा ने आपको Gift दिया, इससे कोई फर्क नही पडता की मार्केट मे उस गिफ्ट की कीमत कितनी है, लेकिन आपके लिए वो Gift हमेशा बहुमुल्य रहेगा.

Token क्या होता है? जैसे हम घर खरीदने जाते है, घर खरीदने के बाद हमारे पास उस घर की Registry होती उसपर हमारी Sign होती है, हमारा नाम होता है, एक प्रॉपर अग्रीमेंट होता है की वो घर हमारे नाम पर है, हमारी Ownership Decide होती है.

ऐसे ही अगर कोई चीज हम डिजिटली Own करते है उसे टोकेन कहा जाता है.

जैसे हमारी रेजिस्ट्री को पुरा का पुरा सिस्टम ट्रैक कर रहा होता है, Government ट्रैक कर रही होती है, लेकिन टोकन (Token) को Blockchain टेक्नोलॉजी के रूप पब्लिक ट्रैक कर रही होती है.

NFT’s कैसे काम करते है?

एनएफटी क्रिप्टोग्राफिक टोकन की तरह काम करते हैं, लेकिन बिटकॉइन या एथेरियम जैसी क्रिप्टोकरेंसी के विपरीत, NFT’s को दूसरे एनएफटी टोकन से आपस मे Interchange नही कर सकते इस वजह से ये Fungible नही है.

एनएफटी को एसेट के रूप मे देखा जाता है जो खुद मे अपनी Value जेनेरेट करता. प्रत्येक nft की एक अलग मूल्य हो सकता है जबकि सभी बिटकॉइन और Cryptocurrency समान हैं.

Blockchain Technology क्या है?

ब्लॉकचैन Information को ग्रुप्स मे कलेक्ट करता है और इन ग्रुप्स को ब्लॉक भी कहा जाता है. हर ब्लॉक्स मे लिमिटेड स्टोरींग कैपेसिटी होती है और जब यह ब्लॉक भर जाता है तब वह दूसरे ब्लॉक से जुड़ जाता है और ऐसे ही उनकी Chain बनती जाती है.

Blockchain-Technology-explained-image.jpg

आसान भाषा मे समझे तो किसी भी Information, Data को Block के form मे Stored करना मतलब Blockchain.

Blockchain अपना सारा का सारा डाटा पब्लिक रखती है। जैसे आप अपने दोस्त को ऑनलाइन Money सेंड करना चाहते हो, आपको ऑनलाइन ट्रानजैकशन करनी है तो आपके इस Transaction की डिटेल्स आपके बैंक के पास होगी.

या फिर आप सीधा अपने दोस्त को ऑनलाइन पैसे सेंड करने है लेकिन आपको बैंक को बीच मे नही लाना है तो आपको Blockchain Technology कि मदद से कर सकते हो। आपके इस Transaction की सारी डिटेल्स पब्लिक को दिखेगी जो उस ब्लॉकचैन पर है.

एनएफटी के उपयोग

NFT का उपयोग किसी भी डिजिटल वस्तु पर अपना मालिकाना हक्क लेने के लिए होता है. जैसे आपके पास किसी Music, Film, Digital Artwork के nft token है इसका मतलब आप उस चीज के मालिक (Owner) है.

NFT टोकन का Use कैसे होता है?

डिजिटल फाइल:

एनएफटी का उपयोग डिजिटल टोकन के आदान-प्रदान के साधन के रूप में किया गया है जो एक डिजिटल फाइल से लिंक होता है।

Digital art:

डिजिटल कला Nft का अब सामान्य उपयोग का मामला है, डिजिटल कला से जुड़े एनएफटी की हाई-प्रोफाइल नीलामियों ने काफी लोगों का ध्यान आकर्षित किया है.

EtherRocks और CryptoPunks यह nft के संग्रह मे से जनरेटिव आर्ट के उदाहरण हैं.

Games:

NFT’s को खेल में परिसंम्पति (asset’s) के तौर पे किया जा सकता है जैसे third-party मार्केटप्लेसेस मे खेल के डिजिटल Plots, जमीन की खरीदी-बेची करना.

NFT- आधारित ऑनलाइन गेम, Axie Infinity, मार्च 2018 में लॉन्च किया गया था।

Music:

कलाकारों द्वारा उनकी कलाकृति (Artwork) और संगीत को Nft टोकन के रूप में की बिक्री की जाती है. फरवरी 2021 में, एनएफटी ने संगीत उद्योग के भीतर लगभग 25 मिलियन डॉलर की कमाई की.

Film:

Film के Promotion, Poster, Tickets को बढ़ावा देने और बेचने के लिए Nft Token को इस्तेमाल मे ला सकते है. जैसे 2018 की Deadpool 2 फिल्म 20th Century Fox ने Atom Tickets के Partnership से मूवी के Promotion के लिए Digital Poster निकाले जो Opensea और GFT exchange पर उपलब्ध थे.

काले धन को वैध बनाना (Money laundering)

NFT’s Blockchain Securities और पारंपरिक कला बिक्री के साथ संभावित रूप से मनी लॉन्ड्रिंग के लिए उपयोग किया जा सकता है.

अन्य उपयोग
2019 में, नाइके ने क्रिप्टोकिक्स ( Cryptokicks) नामक एक प्रणाली का पेटेंट कराया जो Physical Sneakers की प्रामाणिकता को सत्यापित करने के लिए एनएफटी का उपयोग करेगा और ग्राहक को जूते का एक आभासी संस्करण (Virtual version देगा.

किसी भी प्रकार के आयोजन के टिकटों की बिक्री के लिए Nft का Use किया जायेगा.

Nft और Cryptocurrency मे अंतर

  • वैसे तो NFT’s और Bitcoin दोनो अलग-अलग Term है पर इन दोनो मे समानता लाती है वो है इनकी Technology जो Blockchain पर आधारित होती है.
  • Nft युनीक होते है इससे वे किसी दूसरी वस्तु से Replace नही कर सकते, इसे ही Non-Fungible कहा जाता है, बल्कि Cryptocurrency डिजिटल कॉइन होते है जिसे आसानी से दूसरे Crypto coin के साथ आसानी से Replace किया जा सकता है इसे ही Fungible कहते है.
  • NFT’s डिजिटल एसेट की तरह होते है जो वस्तु, चीज पर मालिकाना अधिकार दिखाता है, दूसरी तरफ Cryptocurrency जो डिजिटल कॉइन होते वो Online Transaction करने के काम मे आते है.

एनएफटी का इतिहास

Quantum नाम का पहला ‘NFT’ May 2014 मे Kevin McCoy और Anil Dash द्वारा बनाया गया. जिसमें मैककॉय की पत्नी जेनिफर द्वारा बनाई गई एक वीडियो क्लिप शामिल थी.

McCoy ने Namecoin Blockchain पर वीडियो रेजिस्टर कर उसे अनिल दास को $4 मे बेच दिया.

अक्टूबर 2015 में, एथेरियम ब्लॉकचेन के लॉन्च के तीन महीने बाद, एथेरियम के पहले डेवलपर सम्मेलन, लंदन में DEVCON 1 में पहली NFT परियोजना, Etheria को लॉन्च और प्रदर्शित किया गया था.

खरीद योग्य और व्यापार योग्य Etheria’s 457, 13 मार्च, 2021 तक पांच साल से अधिक समय तक बिना बिके रहीं, जब एनएफटी में नए सिरे से रुचि ने खरीदारी उन्माद को जन्म दिया। 24 घंटों के भीतर, 1 ETH जो लॉन्च के समय $0.43 के कीमत का था वो अब कुल $1.4 मिलियन में बेचा गया.

2017 में Ethereum GitHub के माध्यम से शब्द “एनएफटी” ने ईआरसी -721 मानक के साथ मुद्रा प्राप्त की. उसी वर्ष विभिन्न एनएफटी Launch हुए जिसमें Curio Cards, CryptoPunks जैसे NFT’s और दुर्लभ पेपे ट्रेडिंग कार्ड शामिल है.

Nft मार्केट

2022 मे NFT का मार्केट Size $35 billion का है जो पिछले साल 2020 मे USD340 Million का था, ऐसा कहा जाता है कि अगले पांच साल मे nft का मार्केट size 2025 तक 80$ होने का अनुमान लगाया जा रहा है.

NFT कैसे बनाए?

  1. Pick your item
    यह Decide करे की आपको किस डिजिटल एसेट को Nft मे बदलना चाहते है. यह एक कस्टम पेंटिंग, चित्र, संगीत, वीडियो गेम संग्रहणीय, मेम, जीआईएफ, या यहां तक ​​कि एक ट्वीट भी हो सकता है
  2. Choose your blockchain
    अपना युनीक डिजिटल एसेट का चयन करने के बाद अब आपको ब्लॉकचेन तकनीक को निर्धारित करना होता है जिसे आप nft के लिये उपयोग मे ला सके. एनएफटी कलाकारों और रचनाकारों में सबसे लोकप्रिय एथेरियम (ERC-721) है. अन्य लोकप्रिय विकल्पों में Tezos, Polkadot, Cosmos और Binance स्मार्ट चेन शामिल हैं.
  3. Set up your digital wallet
    डिजिटल वॉलेट एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है जिसमें Owner की Public और Private Key होती है. Wallet से आप डिजिटल एसेट की खरीदारी और लेनदेन कर सकते हैं. टॉप NFT वॉलेट Metamask, Math Wallet, AlphaWallet, Trust Wallet, और Coinbase Wallet
  4. Select your NFT marketplace
    OpenSea NFT को खरीदने और बेचने के लिए सबसे लोकप्रिय मार्केटप्लेस में से एक है. OpenSea उपयोगकर्ताओं को प्लेटफ़ॉर्म के डिजिटल आइटम्स के संग्रह को देखने की अनुमति देता है.
  5. Upload your file
    आपको अपने nft फाइल को marketplace पर Upload करना होता है, जो PNG, GIF, MP3, या other फाइल टाइप मे हो सकती है.
  6. Set up the sales process
    यह आखरी प्रोसेस जिससे अपने NFT को monetise कर सकते हो.
  • Sell it at a fixed price: एक निश्चित मूल्य निर्धारित करके,
  • Set a timed auction: नीलामी आपके एनएफटी में रुचि रखने वालों को अपनी अंतिम बोली जमा करने की समय सीमा प्रदान करेगी.
  • Start an unlimited auction: नीलामी की कोई समय सीमा निर्धारित नहीं करता. इसके बजाय, आपके पास जब चाहें नीलामी समाप्त करने का नियंत्रण होता है.

Nft के फायदे (Pros)

कलाकार के लिए आय का नया जरिया

डिजिटल परिदृश्य में कलाकार को अधिक पैसा कमाने में मदद करने के लिए Nfts आंशिक रूप से बनाए गए थे.

अचल स्थिति (unchangeableness)
यदि ब्लॉकचैनब्लॉकचैन पर उनकी प्रामाणिकता सत्यापित की जाती है तो एनएफटी को किसी भी तरह से बदला या प्रतिस्थापित नहीं किया जा सकता है। का आंतरिक मूल्य
प्रामाणिकता एक वास्तविक, बाहरी मूल्य भी बन जाती है।

स्वामित्व का प्रमाण

अगर आपके पास किसी भी चीज का nft token है इसका मतलब आप उस चीज के Owner है, वो वस्तु आपकी है जिसका आपके पास token है. अन्य व्यक्ति आपकी ownership से छेड़ छाड़ः नहीं कर सकता.

Nft मे risk (Cons)

पर्यावरणीय चिंता

एनएफटी की खरीद और बिक्री के ज्यादा मात्रा मे ऊर्जा का उपयोग किया जाता है इसके परिणामस्वरूप ग्रीन हाउस गैस के उत्सर्जन बढ़ोत्रि हो रही है. Ethereum जैसे नेटवर्क पर किये जाने वाले ब्लॉकचैन लेनदेन (Transaction) के लिए आवश्यक प्रूफ-ऑफ-वर्क प्रोटोकॉल चाहिए होता है बड़ी मात्रा में बिजली की खपत करता है.

NFTs Illiquid और volatile होते है

अभी के समये मे NFTs का Concept लोगों के लिए नया है, nft मार्केट मे Buyers और Seller कम की संख्या में मे जिससे Nft को बाजार मे Trade कर पाना लगभग मुश्किल हो जाता है. एनएफटी अत्यधिक अस्थिर होने के कारण इसका रिस्क फैक्टर बढ जाता है.

NFTs आय (Income) उत्पन्न नही करते

डिविडेंड pay करने वाले स्टॉक, Interest देनेवाले Bond, रेंटल इनकम generate करनेवाले Real-estate, NFT’s अपने Owner को इस तरह के किसी भी Income Create करने के Source नही देते. एनएफटी निवेश पूरी तरह से मूल्य वृद्धि पर आधारित है

धोखाधड़ी को कायम रखने के लिए Nfts का इस्तेमाल किया जा सकता है

हाल ही में कई कलाकारों ने उनकी सहमति के बिना एनएफटी जैसे ऑनलाइन मार्केटप्लेस पर उनकी आर्टवर्क की बिक्री के लिए लगाए जाने की Complaint दर्ज की है.

स्वामित्व (Ownership) नियंत्रण के बराबर नहीं है

सिर्फ इसलिए कि किसी के पास original एनएफटी है इसका मतलब यह नहीं है कि वे प्लेटफॉर्म पर इसके वितरण या Duplication को नियंत्रित कर सकते हैं। स्वामित्व का मतलब सिर्फ इतना है कि उनके पास प्रामाणिक Original work है पर वे उसकी प्रिंट को बनने से नहीं रोक सकते

FAQs

  1. Nft क्या है?

    Nft का full form है Non-Fungible Token. Nft unique digital asset होते है.

  2. ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी क्या है?

    डाटा ब्लॉक पर चले वाली information की एक्सचेंज प्रोसेस है ब्लॉकचैन

  3. NFT कहाँ से खरीदें और बेचे?

    NFT के खरीदी, बिक्री और Trade करने के लिए आपको Marketplace की जरूरत होगी. Opensea.io ये Nft के लेन-देन बड़ा मार्केटप्लेस है.

यह भी पढ़े:

Pay Per Click Marketing क्या है?

Search Engine Optimization क्या होता है?

Harsh Walde

मैं formally आपसे अपना परिचय करा देता हूँ: My name is Harsh walde और मैं technology और internet marketing के बारे में passionate हूँ. औपचारिक तौर पर मैं एक इंजीनियरिंग स्टुडेंट् हू और पेशे से अब मैं एक Blogger हूँ.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.