Ecommerce क्या है, कैसे काम करता है – What Is Ecommerce In Hindi

5/5 - (2 votes)

E-commerce जिसे इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स के नाम से भी जाना जाता है यह भविष्य का एक उद्योग है जिसे व्यवसायों के उत्पादों को दुनिया भर के ग्राहकों को बेचने के रूप में शुरू शुरू किया गया है।

ई-कॉमर्स सबसे तेजी से बढ़ते बिजनेस मॉडल में से एक है। Ecommerce इंटरनेट वेब पर उपलब्ध उत्पादों या सेवाओं की बिक्री या खरीद है। ऑनलाइन खरीदारी की बढ़ती लोकप्रियता के साथ, ई-कॉमर्स ऑनलाइन मार्केटिंग का एक महत्वपूर्ण पहलू बनता जा रहा है।

हालांकि एक उद्योग के रूप में ईकॉमर्स बहुत नया है, केवल तीन दशकों के आसपास होने के कारण, यह दुनिया का तीसरा सबसे महत्वपूर्ण आर्थिक उद्योग बन गया है।

इस ब्लॉग मे हम जानेंगे की Ecommerce क्या है, यह कैसे काम करता है और यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है।

Ecommerce क्या है – What Is Ecommerce In Hindi

E-commerce का फुल फॉर्म Electric Commerce होता है यह मुख्य रूप से इंटरनेट पर सामान या सेवाओं को खरीदने और बेचने की प्रक्रिया है। Ecommerce यह पारंपरिक खरीददारी और भुगतान प्रक्रिया जैसे Cash या Cheque के बिल्कुल विपरीत है।

ईकॉमर्स में अनुप्रयोगों की एक विस्तृत श्रृंखला है, लेकिन आमतौर पर यह उत्पादों और सेवाओं की ऑनलाइन खरीद और बिक्री को संदर्भित करता है।

ईकॉमर्स “इलेक्ट्रॉनिक” और “कॉमर्स” शब्दों का एक संयोजन है। कॉमर्स यह पैसे या अन्य उत्पादों के लिए उत्पादों की खरीद, बिक्री और आदान-प्रदान है। Commerce एक ऐसी चीज है जो मनुष्य वर्षों से करता आ रहा है।

ई-कॉमर्स इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स का एक रूप है जो इंटरनेट पर सामान या सेवाओं की खरीद की अनुमति देता है। ई-कॉमर्स का सबसे लोकप्रिय उदाहरण ऑनलाइन शॉपिंग है, जो $300 बिलियन का उद्योग बन गया है।

ई-कॉमर्स की बिक्री साल-दर-साल बढ़ती जा रही है, और 2018 तक ई-कॉमर्स उद्योग के 6.1 प्रतिशत की वार्षिक दर से बढ़ने की उम्मीद है।

यह एक व्यवसाय मॉडल है जो छोटे और बड़े व्यवसायों को अधिक से अधिक ग्राहकों तक पहुंचने में मदद करने के लिए इंटरनेट का उपयोग करता है, और बदले में, अधिक पैसा कमाता है।

ग्राहक दिन के किसी भी समय ऑनलाइन ब्राउज़ कर सकते हैं और खरीद सकते हैं, और विक्रेता कैटलॉग से ऑर्डर करने की तुलना में कम लागत पर सीधे उत्पादों को शिप कर सकते हैं।

ई-कॉमर्स कैसे काम करता है – How E-commerce Work In Hindi

ई-कॉमर्स शब्द का प्रयोग इंटरनेट पर उत्पादों या सेवाओं की बिक्री का वर्णन करने के लिए किया जाता है। यह एक बड़ा और उभरता हुआ व्यवसाय है, जो तेजी से बढ़ रहा है और 2017 तक लगभग 4 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है। ई-कॉमर्स यह रिटेल, प्रकाशन, यात्रा, प्रौद्योगिकी और अन्य उद्योगों को प्रभावित करता है।

ई-कॉमर्स उद्योग फलफूल रहा है। 2021 तक इसकी कीमत $2 ट्रिलियन से अधिक होने का अनुमान है। लेकिन, बहुत से लोग वास्तव में यह नहीं समझते हैं कि यह सब कैसे काम करता है। इस ब्लॉग में, हम ई-कॉमर्स की मूल बातें तलाशने जा रहे हैं। हम बताएंगे कि E-commerce कैसे काम करता है?

ई-कॉमर्स किसी वस्तु को ऑनलाइन खरीदने की प्रक्रिया को अक्सर Online Shopping के रूप में जाना जाता है।ई-कॉमर्स आपको किसी भी समय दुनिया के किसी भी स्थान से लगभग कुछ भी खरीदने की अनुमति देता है।

E-commerce एक ऑनलाइन स्टोर एक वेबसाइट है जो आपको दुनिया में कहीं से भी आइटम खरीदने की अनुमति देता है। वस्तुओं को आपके घर या कार्यालय में कूरियर या डाक के माध्यम से भेज दिया जाता है। वेबसाइट का उपयोग किसी भी डिवाइस जैसे कंप्यूटर, टैबलेट या स्मार्टफोन पर किया जा सकता है।

आप एक ऐप भी डाउनलोड कर सकते हैं जो आपको अपने फोन से खरीदारी करने की अनुमति देता है। e.g. Amazon, Flipkart, Alibaba, ebay, Meesho etc.

E-commerce के प्रकार – Types Of E-commerce In Hindi

ई-कॉमर्स के तीन मुख्य प्रकार हैं: i) B2B, ii) B2C iii) C2C

i) Businss-To-Business (B2B)

बिजनेस-टू-बिजनेस यह दो व्यवसाय के बीच मे होने वाले उत्पादों और सेवाओंका आदान प्रदान और लेन-देन की प्रक्रिया है। e.g. Manufacturing Material, Car Parts

ii) Businss-To-Consumer (B2C)

बिजनेस-टू-कंझुमर यह व्यवसाय और खरीदार के दर्मिया मे होने वाले उत्पादों और सेवाओंका आदान प्रदान और लेन-देन की प्रक्रिया है। e.g. Amazon, Flipkart, Alibaba, ebay, Meesho

iii) Consumer-To-Consumer (C2C)

कंझुमर-टू-कंझुमर यह खरीदार और खरीदार के दर्मिया मे होने वाले उत्पादों और सेवाओंका आदान प्रदान और लेन-देन की प्रक्रिया है। e.g. eBay, Etsy, Craiglist, Ali Express, Amazon Marketplace

आपके पास एक ई-कॉमर्स स्टोर हो सकता है जो इस प्रकार के ई-कॉमर्स का संयोजन करता है, लेकिन ई-कॉमर्स मॉडल चुनने के लिए आपको अपनी ई-कॉमर्स साइट का उद्देश्य निर्धारित करना होगा।

ई-कॉमर्स के फायदे – Advantages Of E-commerce In Hindi

E-commerce वर्तमान समय के सबसे तेजी से बढ़ते व्यवसायों में से एक है। बेशक, ऑनलाइन शॉपिंग के कई फायदे हैं। इस लेख में, हम ईकॉमर्स के मुख्य लाभों के बारे में बात करेंगे।

  • ईकॉमर्स का मुख्य लाभ यह है कि यह सुविधाजनक है।
  • ईकॉमर्स अन्य प्रकार के व्यवसायों की तुलना में सस्ता है।
  • ई-कॉमर्स में आप किसी भी समय और कहीं से भी सामान और सेवाएं खरीद सकते हैं।
  • आप खरीदने से पहले प्रत्येक उत्पाद के लिए निर्देश और समीक्षा पढ़ सकते हैं।
  • ई-कॉमर्स में आप किसी भी समय और कहीं से भी सामान और सेवाएं खरीद सकते हैं।
  • ई-कॉमर्स की मदद से आप स्टोर में सामान की उपलब्धता का पता लगा सकते हैं और उन्हें खरीद सकते हैं। यदि आप उस सामान से संतुष्ट नहीं हैं, तो आप उन्हें वापस कर सकते हैं।
  • ई-कॉमर्स में आपको हजारों सामान मिल जाते हैं। ईकॉमर्स में, आप अपनी जरूरत की लगभग हर चीज पा सकते हैं।
  • ईकॉमर्स अन्य प्रकार के व्यवसायों की तुलना में तेज़ और सुविधाजनक है।
  • व्यापार के अन्य रूपों की तुलना में ई-कॉमर्स के बहुत सारे फायदे हैं। इसे स्थापित करना बहुत आसान है, यह कहीं अधिक कुशल है, यह बहुत सस्ता है, और इसमें वैश्विक होने की क्षमता है, जो कि कई पारंपरिक व्यवसायों के लिए कठिन समय है।
  • ईकॉमर्स वेबसाइटें भौतिक स्टोरों की तुलना में बहुत अधिक लचीली होती हैं, जो कि एक ऐसी चीज है जो एक बड़ा फायदा हो सकता है जब यह तय करने की बात आती है कि क्या बेचना है और कैसे करना है।

ई-कॉमर्स का नुकसान – Disadvantages Of E-commerce

हालांकि, ई-कॉमर्स के कुछ नुकसान भी हैं जिन्हें अक्सर अनदेखा कर दिया जाता है। E-commerce कुछ नुकसान के प्रकार निम्नलिखित है।

  • ईकॉमर्स के सबसे बड़े नुकसानों में से एक यह तथ्य है कि ऑनलाइन संचालित होने वाले अधिकांश व्यवसाय काफी छोटे हैं। इससे ईकॉमर्स स्टोर्स के लिए बहुत अधिक ग्राहक सहायता प्रदान करना मुश्किल हो जाता है। जब आप एक नियमित स्टोर में जाते हैं, तो आप एक वास्तविक व्यक्ति से बात कर सकते हैं, लेकिन ऑनलाइन आप उस सहायता तक सीमित होते हैं जो स्टोर प्रदान कर सकता है।
  • ऑनलाइन उत्पाद की गुणवत्ता को समझना मुश्किल है।
  • एक और नुकसान यह है कि हम खरीदने से पहले उत्पाद का परीक्षण नहीं कर सकते।
  • शिपिंग: शिपिंग उन प्रमुख मुद्दों में से एक है जो उपयोगकर्ताओं को ऑनलाइन उत्पाद खरीदते समय सामना करते हैं। इसमें बहुत समय लगता है, यह बहुत महंगा है और यह विश्वसनीय नहीं है। स्टॉक से बाहर होने पर उत्पाद प्राप्त करना बहुत मुश्किल है।
  • समय: उत्पाद प्राप्त करने के लिए उपयोगकर्ता को बहुत समय इंतजार करना पड़ता है, क्योंकि शिपिंग में बहुत समय लगता है।
  • मूल्य: उत्पाद की कीमत उपयोगकर्ता की अपेक्षा से अधिक हो सकती है, क्योंकि शिपिंग और अन्य शुल्क कीमत इसमें शामिल हो जाती हैं।
  • ग्राहक सेवा: उपयोगकर्ता को ग्राहक सेवा के संबंध में कई मुद्दों का सामना करना पड़ेगा, यदि उन्हें अपनी खरीद के संबंध में कोई समस्या है तो।

Conclusion: Ecommerce Kya Hai

ईकॉमर्स शब्द “इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स” का संक्षिप्त रूप है जो वस्तुओ और सेवाओं के Online खरीद और बिक्री को संदर्भित करता है। Ecommerce को आमतौर पर उत्पादों और सेवाओं की ऑनलाइन बिक्री के रूप में जाना जाता है।

ईकॉमर्स पैसे या मूल्य की अन्य चीजों के बदले उत्पादों या सेवाओं का व्यापार है। ई-कॉमर्स ऑनलाइन खरीदने या बेचने का लेनदेन है।

ई-कॉमर्स व्यवसाय में इंटरनेट पर वस्तुओं या सेवाओं की बिक्री या खरीद शामिल है। इंटरनेट पर पैसे या अन्य मूल्यवान चीजों के बदले में सामान या सेवाएं बेचने की प्रक्रिया।

यह आपको पहले से कहीं अधिक आसान कीमतों और उत्पादों की तुलना करने की अनुमति देता है। वास्तव में, ऑनलाइन दुकानदारों के लिए इन-स्टोर सौदे से बेहतर सौदा खोजना संभव है। इसने खरीदारी का एक नया तरीका बनाया जो 24/7 खुला है और दुनिया में किसी के लिए भी उपलब्ध है।

आशा करते है आज की हमारी यह लेख आपको पसंद आया होगा. अगर E-commerce Kya Hai से संबधित कोई समस्या या सवाल है तो आप बेझिझक हमसे पूछ सकते है हम अपनी और से आपके सवालों का जवाब देने की पुरी कोशिश करेंगे।

Harsh Walde

मैं formally आपसे अपना परिचय करा देता हूँ: My name is Harsh walde और मैं technology और internet marketing के बारे में passionate हूँ. औपचारिक तौर पर मैं एक इंजीनियरिंग स्टुडेंट् हू और पेशे से अब मैं एक Blogger हूँ.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.